loading...

Saturday, March 2, 2019

IAF द्वारा मार गिराए गये F16 के पाइलेट को भारतीय समझकर मार डाला था पाकिस्तानियों ने


जहां भारत ने अपने बहादुर फौजी IAF विंग कमांडर, अभिनंदन वर्थमान की वापसी का जश्न मनाया वहीं भारतीय वायु सेना द्वारा मार गिराए गये PAF के F-16  विमान के पायलट को जिसने पाकिस्तान में लैंड किया था को कथित तौर पर नौशेरा में एक भीड़ द्वारा पीट पीट कर आर डाला गया। 

लंदन के एक वकील ने यह भी दावा किया है कि पीएएफ पायलट को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन उसने दम तोड़ दिया। वही पाकिस्तानी मीडिया पाकिस्तानी पायलट विंग कमांडर शहज-उद-दीन के मामले में सामने आई गंभीर खबर को छिपाने की नाकाम कोशिश कर रहा है।

एक ओर, विंग कमांडर, अभिनंदन वर्थमान ने मिग 21 विमान जोकि वायु सेना से सेवा समाप्ति की कगार पर है और इन समय प्रचलन में भी नही है से एक एडवांस जेट F 16 को मार गिराया लेकिन कुछ तकनीकी खराबी के कारण उन्हें विमान से इजेक्ट करना पड़ा लेकिन दुर्भाग्य से पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में उतर गये थे जहां बाद में उन्हें पाकिस्तान की सेना ने बंदी बना लिया था। हालाँकि, भारत की कूटनीतिक के बाद पाकिस्तान को उन्हें भारत वापस भेजने के लिए मजबूर होना पड़ा ।

दूसरी ओर, पीएएफ पायलट जोकि एक एफ -16 लड़ाकू विमान उड़ा रहा था जो मिग 21 से कहीं बेहतर है, उसे भारतीय वायुसेना ने मार गिराया था जिससे इजेक्ट होकर पाकिस्तानी पायलेट पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में उतर गया था। उसके उतरने के बाद पाकिस्तानी के स्थानीय लोगों ने उस PAF पायलट भारतीय समझकर बेरहमी से पीटा जिससे उसकी मौत हो गई । पाकिस्तानी पायलट एक भयावह दुर्घटना से बचने में तो कामयाब रहा लेकिन भीड़ ने उसे मौत के घाट उतार दिया, जो स्पष्ट रूप से भारत और उसके नागरिकों के लिए पाकिस्तानी घृणा को दर्शाता है।

सूत्रों का कहना है कि जब वह उतरा तो पाकिस्तानी पायलट की वर्दी फट गई थी, जसके बाद स्थानीय लोगों ने उसे भारतीय पायलट माना और बेहोश होने तक उसे बहुत बुरी तरह से पीटा।

स्थानीय पुलिस उसे अस्पताल ले गई, और सेना को सूचित किया गया कि एक भारतीय पायलट को पकड़ लिया गया है। शायद, यही कारण है कि इस तथ्य का पता लगाए बिना पाकिस्तानी सेना ने पाकिस्तानियों की भावनाओं को संबोधित करने के लिए दो भारतीय पायलटों को पकड़ने का दावा किया था ”

loading...