loading...

Monday, March 4, 2019

भारत के इस कदम से पाकिस्तान में अचानक बढ़ी महगाई, तेल-घी नमक-मिर्च की कमी से मचा हाहाकार,


पुलवामा हमले के बाद भारत की ओर से लगाये गये सेंक्शंस और दुनिया भर के अन्य देशों के कड़े रुख से पाकिस्तानी रुपये की कीमत बेतहाशा गिरती जा रही है। कराची और लाहौर  जैसे शहरों की बाजारो में दाल-चावल और आटा ही नहीं घी-तेल, हल्दी-नमक और मिर्ची के लाले पड़ गये हैं...छोटे शहर और गांवों के हाला तो और भी खराब हैं

पाकिस्तान के अखबार डॉन की एक रिपोर्ट के मुताबिक रुपये की गिरती कीमत से बाजारों में हाहाकार मचा हुआ है। लोगों के पास खरीदारी के लिए पैसा नहीं है। जो पैसे वाले हैं उन्होंने घी-तेल नमक और मसाले जैसे चीजों का स्टॉक कर लिया है और वो अब मन-माने दामों पर उन्हें बेच रहे हैं। पाकिस्तान में आटा-दाल चावल के अकाल का मुद्दा पाकिस्तान की संसद में भी उठ चुका है। पाकिस्तानी सांसदों ने कहा कि जब अपने मुल्क के लोगों का पेट भरने लिए गंदुम नहीं है तो सरकार ने दूसरे देशों को 40 हजार टन गंदुम क्यों भेजा। दरअसल, भारत से पाकिस्तान को निर्यात किये जाने वाले सामान पर 200 प्रतिशत टैक्स लगा देने से वहां हालात बद से बदतर हो गये हैं। 

इस बात का अंदाजा सिर्फ इसी बात से लगाया जा सकता है कि 'टमाटर' के सप्लाई रोके जाने का दुखड़ा पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने जर्मनी में मीडिया के सामने रोय दिया। बहरहाल, पुलवामा हमले का बदला बालकोट में लिये जाने के बाद से पाकिस्तान के घरेलू हालात और भी खराब हो चुके हैं। पाकिस्तानी सरकार और आवाम दोनों का आत्मविश्वास बुरी तरह टूट चुका है। सरकार के भीतर और बाहर उहापोह की स्थिति है।सऊदी अरब के ऐलान के बावजूद इमरान सरकार के खजाने में पैसा नहीं आया है। ऊपर से भारत की सख्ती ने उन्हें घुटनोंपर ला दिया। कहा जा रहा है कि इस वक्त पाकिस्तान सरकार ही नहीं बल्कि पाकिस्तानी सेना भी घुटनों पर है। जिसका उदाहरण विंग कमांडर अभिनंदन की बिना शर्त रिहाई मानी जा रही है।
loading...