loading...

Monday, March 4, 2019

पूरा देश देखना चाहता है आतंकवादियों के शव, सरकार सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत दे


कपिल सिब्बल ने ट्वीट कर कहा, 'मोदी जी इंटरनेशनल मीडिया: न्यूयॉर्क टाइम्स, लंदन का मीडिया ग्रुप, वॉशिंगटन पोस्ट, डेली टेलीग्राफ, द गार्जियन, रॉयटर्स ने रिपोर्ट किया है कि बालाकोट में आतंकियों को कोई नुकसान नहीं हुआ है? क्या आप आतंकवाद के राजनीतिकरण के दोषी हैं?' सिब्बल ने कहा, 'आपको आतंक पर राजनीति पर नहीं करनी चाहिए. जब आपका इतना भारी इंटलीजेंस फेल्योर हुआ तो उसका जिम्मेदार कौन है और उसके जिम्मेदार के खिलाफ आपने क्या कार्रवाई की। आप राजनीति कर रहे हैं...हम उन आतंकियों के शव देखना चाहते हैं, जो एयर स्ट्राइक में मरे थे, तांकि हमें सकून मिले, देश की जनता को सकून मिले उन शहीदों के परिवारों को सकून मिले।'


कपिल सिब्बल ने कहा है, "अंतरराष्ट्रीय मीडिया की उन रिपोर्टों पर प्रधानमंत्री को ज़रूर बोलना चाहिए, जिनमें कहा गया है कि वहां (बालाकोट में हुए हवाई हमले में) शायद ही कोई मरा हो... मैं प्रधानमंत्री से पूछना चाहता हूं, क्या अंतरराष्ट्रीय मीडिया पाकिस्तान का समर्थन कर रहा है...? जब अंतरराष्ट्रीय मीडिया पाकिस्तान के खिलाफ बोलता है, आप खुश होते हैं... जब वे सवाल करते हैं, तो क्या वे इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि वे पाकिस्तान का समर्थन करते हैं...?"


कपिल सिब्ब से पहले बल्कि दिग्विजय सिंह और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी केंद्र सरकार से एयर स्ट्राइक के सबूत सामने रखने की बात कही थी। विपक्ष के इन सवालों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी चुनावी जनसभा के दौरान चुटकी भी ली थी।

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बालाकोट में 26 फरवरी को भारतीय वायु सेना द्वारा हवाई हमले कर जैश ए मोहम्मद के आतंकवादी शिविर को ध्वस्त कर दिया था। वायुसेना की कार्रवाई की हर कोई सराहना कर रहा है, लेकिन अब इसे लेकर भी राजनीति शुरू हो गई है। पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने बालाकोट एयर स्ट्राइक पर सवाल उठाते हुए कहा है कि सरकार को इसके सबूत जारी करने चाहिए।
loading...