loading...

Tuesday, February 26, 2019

पाकिस्तान के रक्षामंत्री बोले कि अंधेरा ज्यादा होने के कारण नही कर सके 12 विमानों पर कोई कार्यवाही

पाकिस्तान के रक्षामंत्री बोले कि अंधेरा ज्यादा होने के कारण नही कर सके 12 विमानों पर कोई कार्यवाही

मंगलवार सुबह भारतीय वायुसेना के हवाई हमले के बाद, पाकिस्तान ने ना केवल भारत के हवाई हमले के दावे को खारिज कर दिया, बल्कि इमरान खान के 'नया पाकिस्तान' को शर्मसार करने वाले उनके रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री के बयान को भी खारिज कर दिया।

मंगलवार सुबह भारतीय वायुसेना के हवाई हमले के बाद, जिसमें 12 मिराज 2000 के विमानों ने खैबर-पख्तूनख्वा प्रांत में बालाकोट जिले में 345 से अधिक आतंकवादियों को मार गिराया और उनके प्रशिक्षण अड्डों को नष्ट कर दिया, लेकिन इस घटना को पाकिस्तान को न सिर्फ खारिज कर दिया बल्कि इमरान खान के 'नया पाकिस्तान' को शर्मसार करने वाले उनके रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री के बयान को भी खारिज कर दिया ।

इस वायरल वीडियो में, जो भारत के पाकिस्तान पर हमले के बाद इस्लामाबाद में पाक सरकार की समाचार ब्रीफिंग प्रतीत होता है, उसमे दोनों पाक रक्षा मंत्री परवेज खट्टक और विदेश मंत्रालय के अध्यक्ष शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि पाक वायु सेना तैयार थी, क्योंकि नियंत्रण रेखा में 12 मिराज 2000 जेट्स में प्रवेश किया और JeM के आतंकी ठिकानों पर बम गिराए, लेकिन 'अंधेरा होने के कारण वे हमले की तीव्रता को समझ नही पाये'। देखें वीडियो ।

वीडियो में, पाक रक्षा मंत्री परवेज खट्टक को यह कहते हुए सुना जा सकता है: "जब सुबह हमला हुआ, तो वे (IAF) 4-5 किमी अंदर (LoC) पर आए और उन्होंने बम गिराए। हमारी वायु सेना तैयार थी लेकिन अंधेरा ज्यादा था, ऐसा नही लग रहा था कि कोई इतना होगा, इसलिए, उन्होंने इस बात का इंतजार किया की हवाई हमले की मात्रा और त्रीवता का पता लगाया जा सके । अब हमें स्पष्ट निर्देश मिले हैं कि अगर भविष्य में ऐसा कुछ होता है, तो हम इसका जवाब दें।

जिस पर MEA शाह महमूद कुरैशी ने कहा: "मैं इसमें ये भी जोड़ना चाहता हूं की पाकिस्तानी वायु सेना पहले से ही एयर-बॉन्ड थी। हम सभी घटनाओं के लिए तैयार थे।"

इससे पहले मंगलवार को पाकिस्तान सेना ने आरोप लगाया कि भारतीय वायुसेना ने मुजफ्फराबाद सेक्टर में नियंत्रण रेखा का उल्लंघन किया। सेना के मीडिया विंग, इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्विटर पर लिखा, "कोई हताहत की सूचना नहीं थी"।

हालांकि, सूत्रों ने पुष्टि की है कि पाकिस्तान में जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा और हिज़्ब-उल-मुजाहिदीन के बालाकोट, मुज़फ़्फ़राबाद और चकोठी में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे 300 से अधिक आतंकवादी IAF की हवाई हमले में निष्प्रभावी हो गए।

इसके अलावा, भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने एक प्रेस ब्रीफिंग को संबोधित किया जिसमें उन्होंने JeM प्रशिक्षण ठिकानों पर IAF के हवाई हमले के बारे में पुष्टि की थी। उन्होंने यह भी पुष्टि की कि बालाकोट में आतंकी ठिकाने को IAF के मिराज 2000 द्वारा मारा गया था, जो जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर के बहनोई मौलाना यूसुफ उर्फ ​​उस्ताद घोरी के नेतृत्व में था।
loading...